Pages

Tuesday, 7 May 2013

एक शाम माँ के नाम ..........

कल ख्वाबो में रब से मुलाकात हो गयी !
ऐसी घटना घटित मेरे साथ हो गयी !!

मैं कहने लगा, मेरी इबादत का कुछ यूँ फल मिले !
मेरी प्यारी सी माँ को, एक हसीं कल मिले !!

यूँ तो गमो में गुजरी है,उसकी जिंदगानी !
है तुझसे, इतनी गुज़ारिश, तू करदे मेहरबानी !!

बस रब से यही दुआ है, हो कबूल मेरी मन्नत !
हर ख़ुशी मिले माँ को, उनकी खुशियों में ही है मेरी ज़न्नत !!

पी के ''तनहा''

2 comments:

  1. दिल खुश हो गया
    हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete

आपके सुझाव और प्रतिक्रियाएं सादर आमंत्रित है ! आपकी आलोचना की हमे आवश्यकता है,
आपका अपना
पी के ''तनहा''